Bihar board class 12 Economics question 2022 लघु उत्तरीय प्रश्न ( 30 Marks ) PART – 5 Class 12 Economics question 2022

80. स्थिर विनिमय दर एवं लोचपूर्ण विनिमय दर की परिभाषा दें।
(Define fixed exchange rate and flexible exchange rate.)

उत्तर⇒ स्थिर विनिमय दर – स्थिर विनिमय दर वह दर है जिसका निर्धारण सरकार द्वारा किया जाता है। स्थिर विनिमय दर में सामान्यतया कोई परिवर्तन नहीं होता या परिवर्तन केवल एक निश्चित सीमा तक ही हो सकते हैं।
लोचपूर्ण विनिमय दर – लोचपूर्ण विनिमय दर वह दर है जिसका निर्धारण बाजार शक्तियों (विदेशी मुद्रा की माँग व पूर्ति) के आधार पर होता है। विनिमय दर में परिवर्तन विदेशी विनिमय की बाजार माँग व पूर्ति में परिवर्तन के अनुसार आ सकते हैं लोचदार विनिमय दर को चलायमान विनिमय दरें भी कहा जाता है।


81. स्फीतिक अंतराल और अवस्फीतिक अंतराल में क्या अंतर है ?(Distinguish between Infationary gap and Deflationary gap ?)

उत्तर⇒ न्यून माँग और अतिरेक माँग ही स्फीतिक और अवस्फीति अंतराल को बताती है। इन दोनों में प्रमुख अंतरों को हम इस प्रकार देख सकते हैं-

(i). स्फीतिक अंतराल सामूहिक माँग का वह स्तर है जो पूर्ण रोजगार संतुलन के लिए आवश्यक कुल माँग से कम होती है। जबकि अवस्फीतिक अंतराल सामूहिक माँग का वह स्तर है जो पूर्ण रोजगार संतुलन के लिए आवश्यक कुल माँग के स्तर से अधिक होता है।

(ii). न्यून माँग की स्थिति में सामूहिक माँग पूर्ण रोजगार संतुलन के लिए आवश्यक सामूहिक पूर्ति से कम होती है। जबकि अतिरेक माँग सामूहिक माँग पूर्ण रोजगार संतुलन के लिए आवश्यक सामूहिक पूर्ति से अधिक होती है।

(iii). न्यून माँग के कारण अवस्फीतिक अंतराल की स्थिति उत्पन्न होती है जबकि अतिरेक माँग के कारण स्फीतिक अंतराल उत्पन्न होती है।


82. सरकार का बजट क्या है ? (What is the budget of the government ?

उत्तर⇒सरकार का बजट बजट एक वित्तीय वर्ष अप्रैल 1 से मार्च 31 तक में सरकार की अनुमानित आय-व्यय का विवरण होता है जिसे बजट कहा जाता है।


83. खुला अर्थव्यवस्था से आप क्या समझते हैं? (What do you understand by an open economy ?)

उत्तर⇒खुली अर्थव्यवस्था — वे अर्थव्यवस्था जिसके उदारवादी तथा निजी आर्थिक तत्वा का प्रभाविकता रहती है तथा आयात-निर्यात पर न्यूनतम प्रतिबंध रहते हैं, खुली अर्थव्यवस्था कहलाता है जैसे हांगकांग,सिंगापर।


84. घाटे का बजट क्या है ? (What is Deficit Budget ?)

उत्तर⇒घाटे का बजट वह बजट होता है जिसमें सरकार की अनुमानित आय सरकार के अनुमानित व्यय से कम होती है।


85. सरकारी बजट के किन्हीं दो उद्देश्यों को समझाइए। (Explain briefly any two Objectives of government Budget.)

उत्तर⇒सरकारी बजट सरकार के वार्षिक व्यय एवं आय का ब्योरा प्रस्तुत करता है। बजट सरकार की उन विकास नीतियों एवं उद्देश्यों को भी बताता है, जिन्हें सरकार बजट के माध्यम से प्राप्त करती है। इसके दो प्रमुख उद्देश्य निम्न हैं –

(i). आर्थिक विकास को प्रोत्साहन – बजट का मुख्य उद्देश्य अर्थव्यवस्था में आर्थिक विकास की गति को प्रोत्साहन देना होता है।
आर्थिक विकास को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार कर में छूट, सरकारी व्यय बढ़ाकर आधारभूत संरचना सड़क, पुल, नहरे, नल, बिजली आदि का निर्माण करती है।

(ii). रोजगार का सृजन – रोजगार का सृजन करना भी सरकार के बजट का मुख्य उद्देश्य है। इसके लिए सरकार श्रम-प्रधान तकनीकों, सड़क, पुल व बांध का निर्माण जैसे सार्वजनिक कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करती है, जिससे रोजगार के अवसर उत्पन्न होती है।


86. भुगतान शेष के संघटकों को बताइए। (What are the components of Balance of Payment ?)

उत्तर⇒भगतान शेष के संघटकों को दो भागों में बांटा गया है –

(A). चालू खाते के मदें।
(B). पूँजी खाते के मदें।

(A). चालू खाते के अंतर्गत निम्न हैं-
(i). दृश्य व्यापार शेष या अदृश्य व्यापार खाता
(ii). अदृश्य व्यापार शेष या अदृश्य व्यापार खाता
(iii). एकपक्षीय अंतरण

(B). पॅजी खाते के अंतर्गत निम्न हैं-
(i). सरकारी सौदे
(ii). गैर सरकारी अथवा निजी सौदे
(iii). प्रत्यक्ष निवेश
(iv). पोर्टफोलियो निवेश


87.GNP अवस्फीतिक क्या है? (What is GNP Deflator ?)

उत्तर⇒नकद GNP का वास्तविक GNP से अनुपात एवं उसका 100 से गुणनफल GNP अवस्फीतिक की आय है। यह उन सभी वस्तुओं एवं सेवाओं के औसत मूल्य स्तर की माप प्रस्तुत करता है जो GNP में शामिल की जाती है।स्थायी संतुलन


88. वस्तु विनिमय प्रणाली क्या है? (What is Barter system ?)

उत्तर⇒वस्तु विनिमय प्रणाली एक ऐसी प्रणाली है जिसमें वस्तु के बदले वस्तु बदली जाती है और विनिमय के किसी सर्वग्राह्य माध्यम का प्रयोग नहीं होता है।


89. केंद्रीय बैंक की परिभाषा दीजिए। (Define central Bank.)

उत्तर⇒केंद्रीय बैंक देश की मौद्रिक और बैंकिंग व्यवस्था की शीर्षस्थ संस्था है जो देश में चलन तथा साख का विकास, नियमन एवं नियंत्रण राष्ट्र के आर्थिक विकास और आर्थिक स्थिरता के उद्देश्य से कार्य करती है।


90. केंद्रीय बैंक एवं व्यापारिक बैंक में अंतर करें। (Distinguish between central bank and commercial bank.)

उत्तर⇒(i). केंद्रीय बैंक देश के विदेशी विनिमय का लेन-देन करता है। जबकि व्यापारिक बैंक केवल केंद्रीय बैंक की आज्ञा से ही विदेशी विनिमय का व्यवहार कर सकता है।

(ii). केंद्रीय बैंक को व्यापारिक बैंकों से कोई प्रतियोगिता नहीं होती है जबकि व्यापारिक बैंक परस्पर प्रतियोगिता करते हैं।

(iii). केंद्रीय बैंक को पत्र मुद्रा निर्गमन करने का एकाधिकार होता है जबकि व्यापारिक बैंक को यह अधिकार नहीं है।

(iv). केंद्रीय बैंक सरकार के बैंकर के रूप में सरकार की ओर से लेन-देन करता है जबकि व्यापारिक बैंक जनता का बैंकर है।

(v). केंद्रीय बैंक सरकार का स्वामित्व होता है जबकि व्यापारिक बैंक जनसाधारण में व्यवसाय करते हैं।


91. केंद्रीय बैंक के विकासात्मक कार्य का उल्लेख करें। (Explain Development related functions.)

उत्तर⇒केंद्रीय बैंक के विकासात्मक कार्य निम्न हैं –

(i). संगठित बैंकिंग प्रणाली का विकास करता है और नई वित्तीय संस्थानों का निर्माण करता है।
(ii). विकास कार्यों के लिए केंद्रीय बैंक पर्याप्त मुद्रा की पूर्ति सुनिश्चित करता है।
(iii). विनियोग को प्रोत्साहन देने के लिए सस्ती मुद्रा नीति अपनाता है।
(iv). देश के तीव्र औद्योगिक विकास के लिए पर्याप्त औद्योगिक वित्त का प्रबंध करता है।


92. बैंक दर एवं ब्याज दर में अंतर करें। (Distinguish between bank rate and interest rate.)

उत्तर⇒बैंक दर एवं ब्याज दर दोनों में अंतर होता है। ब्याज दर वह दर है जिस पर देश के व्यापारिक बैंक एवं अन्य वित्तीय संस्थाएं ऋण देने को तैयार होती है। इस प्रकार जबकि बैंक दर कद्रीय बैंक की पुनः कटौती है, बाजार ब्याज दर व्यापारिक बैंक की ऋण देने की ब्याज की दर होती है।


93. केंद्रीय बैंक के अंतिम ऋणदाता के कार्य को स्पष्ट करें। (Explain the ‘lender of laste resort function of the central Bank.)

उत्तर⇒केंद्रीय बैंक देश के अन्य बैंकों के लिए अंतिम ऋणदाता के रूप में भी कार्य करता है। आज सभी केंद्रीय बैंक, अंतिम ऋणदाता के दायित्व को निभा रहे हैं। जब किसी व्यापारिक बैंक को वित्तीय संकट के दौरान कहीं से भी ऋण प्राप्त नहीं हो पाता तो वह केंद्रीय बैंक से अंतिम सहारे के रूप में ऋण की माँग कर सकता है।
केंद्रीय बैंक, सदस्य बैंकों को ग्रहण करने योग्य बिलों की कटौती कर के अंतिम ऋणदाता के रूप में कार्य करता है।


94. गुणक प्रक्रिया क्या है ? (Explain the process of Multiplier ?)
उपर्युक्त ……… चित्र ………..

cicle

उत्तर⇒उपर्युक्त गुणक प्रक्रिया स्पष्ट करती है कि निवेश में परिवर्तन होने से आय में परिवर्तन होता है। इसके फलस्वरूप उपभोग में परिवर्तन होता है। चूंकि एक व्यक्ति का उपभाग व्यय दूसरे व्यक्ति की आय होती है। अतः उपभोग में परिवर्तन होने से आय में परिवर्तन होता है। इस प्रकार यह प्रक्रिया तब तक चलती रहती है जब तक उपभोग व्यय में परिवर्तन (∆C) शून्य नहीं हो जाता।
गुणक प्रक्रिया दो प्रकार की होती है। निवेश के बढ़ने पर गुणक, आय में कई गुणा वृद्धि कर देता है। इसे गुणक की अनुकूल प्रक्रिया (Forward Action of Multiplier) कहते हैं। इसके विपरीत, निवेश के कम होने पर गुणक के प्रभाव से आय में कई गुना कमी हो जाती है। इसे गुणक की प्रतिकुल प्रक्रिया (Backward Action of Multiplier) कहा जाता है।


95. आय के चक्रीय प्रवाह द्वारा अर्थव्यवस्था के संतुलन को दर्शायें । (Show the equilibrium of the economy with the help of circular flow of income.)

उत्तर⇒आय के चक्रीय प्रवाह द्वारा अर्थव्यवस्था के संतुलन –
अर्थव्यवस्था के चक्रीय प्रवाह में संतुलन की शर्त निम्न प्रकार है –
Y = C + 1 + G + C (X – M)
Y = आय अथवा उत्पादन
C = उपभोग व्यय
I = निवेश व्यय
G = सरकारी व्यय
X – M = शुद्ध निर्यात जहाँ X = निर्यात, M = आयात


96. निर्गत गणक क्या है ? (What is output multiplier ?)

उत्तर⇒निर्गत गुणक—निर्गत गुणक वह अंक है जिसके साथ निवेश में किए गए परिवर्तन को गुणा करके उसके फलस्वरूप आय में हुई वृद्धि का वृद्धि से K गुना अधिक होगी।
निर्गत गुणक को निम्न सूत्र द्वारा व्यक्त किया जा सकता है।कुल परिवर्तनशील लागत


97. तरलता जाल क्या है ? (What is liquidity Trap ?)

उत्तर⇒यह वह दशा है जिसमें सट्टे के लिए मुद्रा की माँग पूर्णतः लोचदार हो जाती है। यह पूर्ण तरलता पसंदगी की दशा है। जिसे प्रयोग दिए चित्र में से स्पष्ट किया जा सकता है। इस शब्दावली का प्रयोग प्रो० जे० एम० कीन्स द्वारा किया गया है।kon


98. किसी सरकार के प्रमुख कार्य क्या है ? (What are important functions of the government?)

उत्तर⇒ सरकार के प्रमुख कार्य—सरकार बहुत सारे प्रमुख कार्य करती है। सरकारी हस्तक्षेप से ही निजीकरण के दौर से पहले कई दशकों तक आर्थिक क्रियाओं के सभी क्षेत्रों में सरकारी हस्तक्षेप देखने को मिला। वर्तमान समय में अर्थ-व्यवस्था के प्रत्येक क्षेत्र में सरकार प्रमुख कार्य करती है। सरकार आर्थिक समस्याओं के समाधान के लिए कार्य करती है।

वर्तमान समय में विश्व में सरकार की प्रमुख भूमिका देखने को मिल रहा है।
सरकारी भूमिका में धनात्मक पहलू को देखा जा सकता है-

(i). बाजार शक्तियों का स्वतंत्र क्रियाशीलता से उत्पादकों के लाभ का अधिकतमीकरण . संभव होता है जिससे आर्थिक विकास दर को गति मिलती है।

(ii). सार्वजनिक क्षेत्र में सरकारी हस्तक्षेप से उत्पादन में वृद्धि होती है जिससे आर्थिक विकास संभव हो पाता है।
(iii). आत्मनिर्भरता के लिए सरकार विशेष पैकेजों द्वारा लोगों को आत्मनिर्भर बनाने की प्रक्रिया अपनायी है। इस तरह आर्थिक विषमता को दूर करने के लिए सरकार अहम भूमिका निभाती है।


99. आवश्यकताओं के दुहरा संयोग से आप क्या समझते हैं ?
(What do you understand by double coincidence of wants ?)

उत्तर⇒आवश्यकताओं के दुहरा संयोग-जब वस्तु विनिमय प्रणाली के अन्तर्गत विनिमय केवल उसी समय संभव हो सकता है जबकि व्यक्तियों के पास एक दूसरे की आवश्यकता की वस्तु हो और साथ ही वे आपस में एक-दूसरे से बदलने को तैयार हो परन्तु ऐसा संयोग सदा
संभव नहीं होता है। जैसे एक व्यक्ति चावल के बदले में कपड़ा चाहता है तो वह विनिमय तब ही कर सकेगा जबकि उसे ऐसा कोई व्यक्ति मिल जाए जिसके पास बदलने के लिए न केवल कपड़ा फालतू हो बल्कि जिसे चावल की भी आवश्यकता हो। व्यावहारिक जीवन में ऐसा दोहरा संयोग कठिनता से मिलता है।


100. सीमान्त उपभोग प्रवृत्ति क्या है ? (What is marginal propensity to consume ?)

उत्तर⇒सीमान्त उपभोग प्रवृत्ति कुल उपयोग स्तर में परिवर्तन कुल आय में परिवर्तन से अनुपात सीमान्त उपभोग प्रवृत्ति कहलाता है।
कुशीहारा के अनुसार, “सीमान्त उपभोग प्रवृत्ति उपभोग में होने वाले परिवर्तन तथा आय में होने वाला परिवर्तन का अनुपात है।”कुल परिवर्तनशील लागत


Class 12th Economics लघु उत्तरीय प्रश्न ( 30 Marks )

1. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 1
2. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 2
3. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 3
4. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 4
5. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 5
6. Economics ( लघु उत्तरीय प्रश्न ) PART – 6

Class 12th Economics दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ( 20 Marks )

1. Economics ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) PART- 1
2. Economics ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) PART- 2
3. Economics ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) PART- 3
4. Economics ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) PART- 4
5. Economics ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ) PART- 5
You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept