लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर home science part – 5 (20 Marks)


121. वस्त्र की किस्म से आप क्या समझते हैं ?

(What do you understand by the different type of cloths.)

उत्तर⇒ वस्त्रों की किस्म के अंतर्गत निम्न बातों पर ध्यान देना चाहिए

(i) रेशे के प्रकार, (ii) बनावट का प्रकार, (iii) अलंकरण के साजों सामान की क्वालिटी, (iv) मिश्रित किया है या नहीं, (v) सेनफोरोइज्ड (sanforized) है या नहीं, (vi) वस्त्रों की देख रेख की विधि सरल है या कठिन है।


122. डिजाइन बनाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

(What facts should be kept in mind at the time of making design ?)

उत्तर⇒ डिजाइन बनाते समय निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए-

(i) डिजाइन पहनने वाले व्यक्ति की आयु, लिंग, त्वचा के रंग तथा व्यक्तित्व के अनुरूप हो।
(ii) डिजाइन फैशन के अनुकूल हो।
(iii) परिधान में दो या दो से अधिक डिजाइन हो तो उनमें पर्याप्त सामंजस्य स्थापित होना चाहिए।
(iv) डिजाइन देने के लिए उपयुक्त सामग्री निम्न कोटी की हो अन्यथा पहली धुलाई के बाद यह बेकार हो जायेगी।


123. नायलोन वस्त्रों की धुलाई कैसे की जाती है ?

(How are the Nylon Clothes washed?)

उत्तर⇒ मायलोन वस्त्रों की ध्रुलाई नायलोन वस्त्रों को किसी भी प्रकार के साबुन से धोया जा सकता है । वैसे इन्हें धोने में सिल्क के बने वस्त्रों की धुलाई की तरह नियमों का पालन करना चाहिए। साबुन के फेन में वस्त्रों को साफ करके, कई बार साफ पानी में खंगालने के बाद पानी से निकालकर अच्छी तरह जोर से झटका देकर झाड़ने के बाद अलगनी पर रख देना चाहिए, इससे अधिकांश पानी निकल जाता है। कपड़ों को छायादार स्थान पर हैंगर में लटकाकर सुखाना चाहिए। उन्हें निचोड़ना नहीं चाहिए।


124. मौसम तथा समय के अनुसार कैसे रंग के कपड़े पहनने चाहिए ?

(Which colour of clothes should be wear according to the season and time ?)

उत्तर⇒ मौसम सर्दियों में गरम रंग (लाल, पीला, नारंगी आदि) तथा गर्मियों में शीतल रंगों (नीला, हरा, बैंगनी) का प्रयोग करना चाहिए।
समय-किस समय कौन से रंग के वस्त्र पहनना चाहिए इसका भी ज्ञान होना चाहिए। खशी के समय सुंदर, भड़कीले, चमकीले तीव्र रंगों वाले वस्त्र पहनने चाहिए। शोक के समय सफेद रंग के वस्त्र पहनने चाहिए।


125. बेरोजगारी (Unemployment)

उत्तर⇒ जब देश में कार्य करने वाली जनशक्ति अधिक होती हैं, किन्तु काम करने के लिए राजी होते हुए भी बहुतों को प्रचलित मजदूरी पर कार्य नहीं मिलता, तो उस विशेष अवस्था को बेरोजगारी की संज्ञा दी जाती है।


126. अस्थायी दाँत (Temporary teeth)

उत्तर⇒ दाँतों का निर्माण मसूड़ों में गर्भावस्था में ही शुरू हो जाता है। जन्म के पश्चात 6 महीने से दाँत निकलने शुरू हो जाते हैं और 2 वर्ष तक सभी अस्थायी दाँत निकल आते हैं। यह दाँत अस्थायी होते हैं और इनकी संख्या 20 होती है।


127. मस्तिष्क (Brain)

उत्तर⇒ मस्तिष्क एवं सुषुम्ना केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र का सबसे बड़ा एवं महत्वपूर्ण अंग है। यह खोपड़ी के ऊपरी भाग में स्थित हैं। मस्तिष्क ही बुद्धि, इच्छा, संवेगों तथा संवेदनाओं का केन्द्र है। शरीररूपी जीवित यंत्र का संचालन इसी के द्वारा होता है। किसी कार्य को सीखने, समझने तथा उस पर विचार करने का कार्य मस्तिष्क ही करता है।


128. श्वसन तंत्र (Respiratory System)

उत्तर⇒ श्वसन तंत्र का प्रमुख कार्य वायु से ऑक्सीजन ग्रहण करना तथा शरीर में उत्पन्न कार्बनडाइऑक्साइड को बाहर निकालना है। श्वास लेने और छोडने की क्रिया को श्वसन क्रिया कहते हैं। इसका प्रमुख अंग हैं—मुख, नासिका द्वार, गला, कण्ठ, श्वासनली तथा फेफड़ा। ,व, नासिका द्वारलने और छोड़ने की क्रिया कारीर में उत्पन्न


129. तंत्रिका तंत्र (Nervous System)

उत्तर⇒ मस्तिष्क, सुषुम्ना तथा तंत्रिकाएँ सम्मिलित रूप से तंत्रिका तंत्र बनाती है। शरीर को विभिन्न क्रियाओं तथा अंगों की गति का नियंत्रण इसी तंत्र द्वारा होता है। इस तंत्र द्वारा बाह्य जगत का या शरीर में उत्पन्न संवेदनाओं का बोध होता है।


130. प्रजनन तंत्र (Reproductive System)

उत्तर⇒ प्रजननतंत्र का कार्य संतानोत्पति है। जीव के निर्माण में नर एवं मादा दोनों का बराबर योगदान रहता है किन्त गर्भधारण करने तथा शिश को जन्म देने का कार्य मादा ही करती है। स्त्री तथा पुरुष के प्रजनन अंगों में कुछ ऐसे उत्पादक कोष बनते हैं जिनके संयोग से नये जीव की उत्पत्ति होती हैं। संभोग क्रिया से स्त्री और पुरुष के उत्पादक कोष एक दूसरे के समीप पहुँचकर मिल जाते हैं जिससे गर्भ की स्थापना होती है।


131. भोजन संक्रमण (Food Infection)

उत्तर⇒ शरीर को स्वस्थ एवं हृस्ट-पुस्ट रखने के लिए स्वच्छ, समुचित मात्रा में पौष्टिक एवं संतुलित भोजन की आवश्यकता पड़ती है। लेकिन पौष्टिक एवं संतुलित आहार सेवन करने पर भी शरीर स्वस्थ नहीं रहता और रोगग्रस्त हो जाता है क्योंकि पौष्टिक आहार जीवाणुओं, रोगाणुओं, खमीर, फफूंदी या रासायनिक पदार्थों द्वारा संदूषित हो जाता है। जिससे भोजन का रंग-रूप एवं स्वाद बिगड़ जाता है जिसको खाने से बुखार, सिरदर्द, दस्त, उल्टी आदि होने लगती है।

भोजन के हानिकारक तत्त्वों से सम्पर्क होने की क्रिया को संदूषण कहते हैं।


132. MMR क्या है ?
(What is MMR?)

उत्तर⇒ बालकों को प्रतिरक्षित करने के लिए विभिन्न प्रकार के टीके लगवाये जाते हैं। शिशु को MMR का टीका तीन बीमारियों खसरा (Measles), मम्मस (Mumps) व रूबैला (Rubells) से बचाव के लिए दिया जाता है। यह टीका 15 से 18 माह की आयु में दिया जाता है।


133. वस्त्रों का चयन
(Choosing of clothes)

उत्तर⇒ वस्त्रों का चयन करते समय कुछ वस्त्रों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। जैसे-कपड़े की किस्म, कपड़े का रेशा, बुनावट, मजबूती, कपड़े का रंग, छपाई एवं नमूने, उसकी कटाई एवं सिलाई, तुरपन, देखरेख, जिप, स्ट्रेप, बटन, फैशन एवं शैली, मूल्य आदि पर ध्यान देना चाहिए।


134. मिलावट के दुष्परिणामों से बचने के उपाय बताइए।
(State about ways or preventive measure to keep away the bad effects of
adulteration.)

उत्तर⇒ मिलावट से बचने के लिए उपभोक्ता को चाहिए कि उन खाद्य पदार्थों को ही खरीदे जिन पर आई० एस० आई० (ISI), एफ० पी० ओ० (F.P.O.) या एगमार्क (Agmark) की मोहर लगी हो। खाद्य पदार्थों को हमेशा मान्यता प्राप्त दुकान से ही खरीदने चाहिए। कई बार गलत स्थानों से सस्ती चीजें खरीदने से पैसा तो बच जाता है पर लेने के देने पड़ जाते हैं। जहाँ तक हो सके गृहिणी को प्राकृतिक रूप से प्राप्त होने वाले रंगों का प्रयोग करना चाहिए, जैसे-फल, सब्जियों तथा मसालों से प्राप्त होने वाले रंग। यदि किसी कारणवश कृत्रिम रंगों का प्रयोग करना पड़ जाय तो इनको थोड़ी मात्रा में ही प्रयोग में लाने चाहिए।


135. अमीनो अम्ल (Amino Acid)

उत्तर⇒ प्रोटीन जल अपघटन के बाद वह अपनी सबसे सरलतम इकाई अमीनो अम्ल में टट जाता है। अतः अमीनो अम्ल प्रोटीन की लघुत्तम इकाई है। दूसरे शब्दों में कई अमीनो अम्ल आपस में मिलकर प्रोटीन का निर्माण करते हैं। इसलिए अमीनो अम्ल को प्रोटीन का आधारीय स्तंभ कहते हैं।


136. प्रोटीन के प्रकार (Types of Protein)

उत्तर⇒ (A) गुणवत्ता के आधार पर प्रोटीन के प्रकार

(i) पूर्ण प्रोटीन
(ii) आंशिक पूर्ण प्रोटीन
(iii) अपूर्ण प्रोटीन

(B) भौतिक गुण एवं घुलनशीलता के आधार पर

(i) साधारण प्रोटीन
(ii) संयुग्मी प्रोटीन
(iii) व्युत्पन्न प्रोटीन

(C) प्राप्ति के साधन के आधार पर

(i) वानस्पतिक प्रोटीन
(ii) प्राणिज प्रोटीन


137. स्वच्छता (Sanitation)

उत्तर⇒ स्वच्छता से तात्पर्य है अपने आस-पास के जगह को साफ एवं स्वास्थ्यकर रखने की प्रक्रिया विशेषकर मलजल पद्धति एवं स्वच्छ जल की आपूर्ति उपलब्ध कराकर किया जा सकता है।


138. मिलावट की परिभाषा (Definition of Adulteration)

उत्तर⇒ खाद्य पदार्थ में कोई मिलता-जुलता पदार्थ मिलाने अथवा उसमें से कोई तत्त्व निकालने या उसमें कोई हानिकारक तत्त्व मिलाने से खाद्य पदार्थ की गुणवत्ता में परिवर्तन लाने को मिलावट कहा जा सकता है।


139. कार्य सरलीकरण से क्या समझते हैं ?

(What do you understand by work simplification ?)

उत्तर⇒ एक निर्धारित समय और शक्ति के परिणाम के अंतर्गत अधिक कार्य सम्पादित करना या कार्य की निश्चित मात्रा को सम्पन्न करने के लिए समय या शक्ति या दोनों की मात्रा को कम करने की प्रक्रिया को सरलीकरण कहते हैं।


140. मौद्रिक तथा वास्तविक आय में अंतर स्पष्ट करें।
(Differentiate between Cash income and Actual income.)

उत्तर⇒ मौद्रिक आय-वह आय जो व्यक्ति एक निश्चित अवधि में कार्य करके मुद्रा के रूप में प्राप्त करता है, मौद्रिक आय कहलाता है। जैसे-मासिक वेतन, मजदूरी, पेंशन आदि।

वास्तविक आय-किसी निश्चित समय के लिए जो सेवाएँ और सुविधाएँ परिवार के सदस्य प्राप्त करते हैं उसे वास्तविक आय कहते हैं। यह आय परिवार के सदस्यों के प्रयास द्वारा या मुद्रा हस्तांतरण द्वारा प्राप्त किया जाता है।


141. पारिवारिक आय (Family Income)

उत्तर⇒ परिवार के सभी सदस्यों की सम्मिलित आय को पारिवारिक आय कहते हैं। पारिवारिक आय के अंतर्गत मासिक वेतन, मजदूरी, पेंशन, ब्याज एवं लाभांश, किराया, भविष्य निधि, ग्रेच्युटी आदि को शामिल किया जाता है।


142. बॉण्ड्स (Bonds)

उत्तर⇒ यह सरकारी, गैर सरकारी कम्पनियों द्वारा निश्चित अवधि के लिए निर्गमित किये जाते हैं। इस पर अधिक ब्याज मिलता है, परंतु जमाराशि की सुरक्षा की सरकार की गारंटी नहीं होती है। इसके बावजूद कम्पनी की साख के अनुसार इनके बॉण्ड्स काफी प्रचलित हैं। ये बॉण्ड्स शेयर बाजार के दलालों द्वारा खरीदे तथा बेचे जाते हैं। कुछ सरकारी बॉण्ड्स जैसे—रेलवे, रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के बॉण्ड्स पूर्णरूप से आयकर से मुक्त होते हैं।


143. रंग चक्र (Colour Wheel)

उत्तर⇒  (i) प्राथमिक रंग ये प्रथम श्रेणी के मुख्य रंग होते हैं। जैसे लाल, पीला व नीला रंग।
(ii) द्वितीयक तथा माध्यमिक रंग- ये दूसरी श्रेणी के रंग होते हैं। ये रंग दो प्राथमिक रंगों को मिलाकर बनाये जाते हैं। जैसे—हरा, बैंगनी, केसरी। पीला और नीला रंग समान मात्रा में मिलाने से हरा रंग बनता है लाल एवं नीला से बैंगनी रंग बनता है तथा लाल और पीला मिलाने से, केसरी रंग बनता है।
(ii) मध्यवर्ती रंग मध्यवर्ती रंग प्राथमिक रंगों तथा माध्यमिक रंगों को मिलाकर बनते हैं। जैसे—लाल-केसरी, लाल-बैंगनी, पीला-केसरी, नीला-हरा, पीला-हरा।


144. वैसे उत्पाद के नाम लिखें जिनमें आई० एस० आई० चिन्ह हो।
(Write the name of products which have I.S.I. mark.)

उत्तर⇒आई० एस० आई० चिन्ह वाले कुछ प्रमुख उत्पाद निम्नलिखित हैं। जैसे-साबुन, गैस का चूल्हा, सिलेन्डर, विद्युत उत्पाद, सीमेंट, साधारण नमक, बिस्कुट, मिल्क पाउडर, मिनरल वाटर इत्यादि।


145. भविष्य निधि योजना। (Provident Fund Scheme)

उत्तर⇒ यह नौकरी करने वाले व्यक्तियों के लिए अनिवार्य योजना है। इसके अंतर्गत प्रति मास वेतन में से एक निश्चित राशि भविष्य निधि में जमा करवा दी जाती है। आवश्यकता पड़ने पर विभिन्न उचित कार्य जैसे विवाह, शिक्षा, घुमने आदि के लिए तीन मास के वेतन जितनी . राशि ऋण के रूप में मिल सकती है जिसका भुगतान कर्मचारी आसान किस्तों में करता है।


146. विज्ञापन क्या है ? (What is Advertisement ?)

उत्तर⇒ विज्ञापन द्वारा विक्रेता का उत्पाद कम्पनी उपभोक्ता को अपने माल की सूचना देने और बिक्री बढ़ाने के उद्देश्य से इसका सहारा लेते हैं। विज्ञापन का अच्छा असर उपभोक्ताओं पर पड़ता है। खासतौर से जबकि विज्ञापन देखने में अच्छे, सचित्र और अच्छे शब्दों या नारों के रूप में हो। निर्माताओं का यह फर्ज बनता है कि वे अपने माल की बिक्री बढ़ाने के उद्देश्य से झूठा
और भ्रामक प्रचार न करे।


147. ECO मार्क क्या है ? (What is ECO mark ?)

उत्तर⇒ Egg Control Organisation


148. समय व्यवस्थापन (Time Management)

उत्तर⇒ न्यूनतम समय में अधिकतम कार्यों को गुणवतापूर्वक सम्पन्न करना ताकि व्यक्ति एवं पारिवारिक लक्ष्यों की प्राप्ति हो सके, समय व्यवस्थापन कहलाता है।


149. मौद्रिक आय (Money Income)

उत्तर⇒ परिवार के सभी सदस्यों को एक निश्चित समय में कार्य करने के बाद मुद्रा के रूप में जो. आय प्राप्त होती है, उसे मौद्रिक आय कहते हैं।


150. वास्तविक आय (Real Income)

उत्तर⇒ किसी विशेष अवधि में प्राप्त होने वाले सामान या सेवा को वास्तविक आय कहते हैं। ऐसी वस्तुओं, सेवाओं तथा साधनों के लिए परिवार को मुद्रा व्यय नहीं करनी पड़ती हैं परंतु इनके प्राप्त न होने पर अपनी मौद्रिक आय से व्यय करना पड़ता है।


Home Science Class 12 question answer in Hindi

1.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 1
2.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 2
3.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 3
4.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 4
5.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 5
6.Home Science ( लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 6
7. Home Science ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 1
8. Home Science ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 2
9. Home Science ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 3
10. Home Science ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 4
11. Home Science ( दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर ) PART- 5
You might also like